Login    |    Register
Menu Close

नारी जीवन हिंदी कविता महादेव प्रेमी रचित

Naari Jeevan Kavita

नारी जीवन’ कविता नारी के महत्व और समाज में उसके विशेष स्थान का बोध कराती है .

“नारी जीवन” (कुण्डली6चरण )

नारी जीवन दायिनी,नारी से संसार,
हर रिश्ते की जान,वो वो ही घर परिवार,

वो ही घर परिवार,वही ये जग के नाते,
नारी शक्ती रूप,प्रेम नारी से पाते,

“प्रेमी” नर वुनियाद बनी ,नारी के ही तन,
नारी की पहिचान,बना ये नारी जीवन।

रचियता -महादेव प्रेमी

अगर आप पहेली बुझने में रूचि रखते है तो मेरी पुस्तक “बुझोबल “जरूर पढ़े. यह पुस्तक आपको ऑनलाइन आर्डर पर मिल जाएगी. पुस्तक का मूल्य है केवल 199 रु.

आप पुस्तक के कुछ अंश और वर्णन इस ब्लॉग में देख सकते है

Indian beauty Canvas watercolour-1093
Indian Beautiful Woman Painting

Leave a Reply